मंगलवार, 17 अक्तूबर 2017

जिला मुख्यालय में चक्काजाम कर रहे कांगे्रसियों पर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग

जिला कांग्रेस कमेटी ने विभिन्न मांगों को लेकर गुरुवार को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करते हुए जिला सहित तथा सभी ब्लाक मुख्यालय में चक्काजाम किया। जिला मुख्यालय में चक्काजाम कर रहे कांगे्रसियों पर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया। सड़क किनारे कांग्रेसियों तथा पुलिस प्रशासन के मध्य काफी देर तक मान मनौव्वल के बाद नोंक झोंक भी हुई।
चक्काजाम में डटे आंदोलनकारियों को गिरफ्तार कर थाना भी लाया गया, लेकिन बिना किसी पर मामला दर्ज किए उन्हें छोड़ दिया गया। थाने से रिहाई के बाद प्रतिनिधिमंडल ने जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा। जिला कांग्रेस कमेटी ने किसानों की धान खरीदी, मुआवजा तथा फर्जी मुठभेड़ की सीबीआई जांच की मांग करते गुरुवार को जिला सहित ब्लाक मुख्यालय में धरना प्रदर्शन किया। जिला मुख्यालय में कांग्रेसियों ने पुराने बस स्टैंड में सभा की तथा दोपहर दो बजे नया बसस्टैंड चौक पर नेशनल हाईवे में चक्काजाम किया। शुरूआती कुछ मिनटों तक तो चक्काजाम शांति पूर्ण रहा इसके बाद पुलिस का बल वहां पहुंच गया। पुलिस ने पहले तो सड़क पर बैठे आंदोलनकारियों को हटाना चाहा लेकिन आंदोलनकारी नहीं माने तो पुलिस ने उन्हें बलपूर्वक हटाने लगी। इसके बाद भी आंदोलनकारी नहीं उठे तो पुलिस ने बल प्रयोग किया। इस दौरान आंदोलनकारियों तथा पुलिस बल के बीच धक्कामुक्की भी हुई।
आंदोलनकारियों को नेशनल हाईवेे से खदेड़ कर जिला कार्यालय मार्ग में एकत्रित किया गया। चक्काजाम बंद करने जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेश तिवारी को एसडीओपी मुकेश ठाकुर ने काफी मनाया लेकिन वे नहीं माने। तिवारी का कहना था कि हमें शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने दे या फिर गिरफ्तार करें। दोपहर दो बजकर 10 मिनट से प्रारंभ हुआ यह सिलसिला आधे घंटे तक चलता रहा। इसके बाद पुलिस ने प्रतिनिधिमंडल सहित दो दर्जन लोगों को पुलिस की दो गाडिय़ों में भर कर थाने ले आई। कांकेर से गुजर रहे प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री सुभाष शर्मा भी थाने पहुंचें। प्रदर्शन में दिलीप खटवानी, आशीष दत्ताराय, यासीन कराणी, पुरूषोत्तम पाटिल, राजा देवनानी, तरेंद्र भंडारी, आलोक श्रीवास्तव, नरेश ठाकुर, आकाश राव, ललित ठाकुर, सुरेश सोनी, ओमप्रकाश गिडलानी, नरेश बिछिया, दिनेश जायसवाल, राजेश शर्मा, अजय सिंह, महेंद्र यादव, रोमनाथ जैन, इसहाक अहमद, संतकुमार रजक, स्वर्ण लता सिंह, पूजा बोरकर, झमित जैन, कांति नाग, ज्योति साहू, पूजा बोरकर, वर लक्ष्मी, सरस्वती नायडू उपस्थित थे।

कोयलीबेड़ा में कांग्रेस का प्रदर्शन


कांकेर :- धूर नक्सल प्रभावित क्षेत्र कोयलीबेड़ा में युवा कांग्रेस के तत्वाधान में जनपद पंचायत कार्यालय सहित अन्य कार्यालय कोयलीबेड़ा में पुन: प्रारंभ करने एवं तेन्दुपत्ता की मजदूरी 200 रू. करने सहित 15 सूत्रिय मांगों को लेकर मुख्यमार्ग में रैली निकाल कर कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया। रैली के पश्चात आयोजित सभा को संबोधित करते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेश तिवारी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने घोषणा की थी कोयलीबेड़ा में जनपद कार्यालय तीन दिन लगाया जाये किन्तु उनके आदेश का पालन अभी तक नही किया जा रहा हैं। यहां से सभी कार्यालय अन्यत्र स्थानांतरित कर दिये गये हैं। जिसके कारण यहां के आदिवासियों को काफी परेशानी हो रही हैं। इसलिए पखांजूर एवं कोयलीबेड़ा ब्लाक को पृथक कर दोनो को अलग अलग ब्लाक का दर्जा प्रदान करना चाहिए। श्री तिवारी ने कहा कि कोयलीबेड़ा ब्लाक में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार हो रहा हैं, जितनी राशि इस ब्लाक के लिए स्वीकृत की गई है अगर उसे प्रत्येक परिवार को बांट दिया जाता तो वे लखपति हो जाते। यहां के आदिवासियों को नक्सली के नाम से प्रताडि़त किया जा रहा हैं। सभा को जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष भुनेश्वर नाग, मानक दरपट्टी, रत्तीराम दुगा, धन्नूराम, मुनीर अहमद ने भी संबोधित किया। 
रैली एवं सभा के पश्चात महामहिम राज्यपाल के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें उल्लेख किया गया है कि जनपद पंचायत, खंड शिक्षा अधिकारी एवं महिला बाल विकास कार्यालय तत्काल प्रारंभ किये जावे, एकीकृत एक्शन प्लान के तहत राशि स्वीकृत करने, मेढक़ी नदी में एनीकट निर्माण, विद्युत पावर स्टेशन, दूर संचार टावर प्रांरभ करने, स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करने, स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सक की व्यवस्था, शाला एवं छात्रावास में चारदीवारी निमार्ण, तेन्दुपत्ता की मजदूरी दर 200 रू. करने, रावघाट परियोजना में यहां के लोगों को नौकरी प्रदान करने, चारगांव लौह अयस्य परियोजना की 75 प्रतिशत रायल्टी यहां के विकास के लिए खर्च करने, अंतागढ़ कोयलीबेड़ा मार्ग की मरम्मत कर नया सडक़ निर्माण करने एवं एकलव्य आदर्श विद्यालय कोयलीबेड़ा में खोले जाने की मांग की गई हैं। रैली में काफी संख्या में महिला पुरूष एवं युवा वर्ग के लोग सम्मिलित थे। 


प्रदेश सरकार पर कांग्रेस के कड़े प्रहार 
भास्कर न्यूज .कांकेर
रथयात्रा पर निकले भाजपा नेता लालकृष्ण आडवानी जगह-जगह केन्द्र सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं लेकिन जिन राज्यों में भाजपा की सरकार है वहां पर हो रहे खुलेआम भ्रष्टाचार का उल्लेख नहीं कर रहे हैं। भाजपा ने पूर्व में राममंदिर बनाने के नाम पैसा लिया था लेकिन ना तो मंदिर निर्माण किया और ना ही उसका आज तक हिसाब किताब जनता को दिया है।

स्थानीय कृषि उपज मंडी में आयोजित कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते प्रदेश कांग्रेस प्रभारी बीके हरिप्रसाद ने उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार की किसान विरोधी नितियों के चलते प्रदेश के कुछ किसान आत्महत्या तक कर चुके हैं। राज्य में कांग्रेस सरकार बनाने कार्यकर्ताओं को अभी से समर्पित होकर कार्य करना पड़ेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंदकुमार पटेल ने कहा कि रमन सरकार बहुत ज्यादा भ्रष्ट है, जिसके कारण आम आदमी परेशान है। कांकेर जिले में भी जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जोडऩे और कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने 2012 में जनवरी से मार्च तक एक अभियान चलाया जाएगा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए प्रशिक्षणों का आयोजन किया जाएगा। प्रत्येक बूथ में पार्टी को मजबूत बनाने पांच कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की टीम गठित करना है।

पूर्व राज्य मंत्री सत्यनारायण शर्मा ने कहा प्रदेश की भाजपा सरकार केंद्र से मिलने वाले पैसे से चल रही, उसमें भ्रष्टाचार भी कर रही है। भाजपा शासनकाल में अपराध की घटनाओं में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रताडि़त किया जा रहा है। प्रदेश में भ्रष्टाचार व्यापक रूप से फैला हुआ है। भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंकने सभी को संकल्प लेना चाहिए। कार्यकर्ता सम्मेलन को पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरविंद नेताम, कोटा विधायक कवासी लखमा, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री फूलों नेताम, कांग्रेस के प्रदेश नेता रमेश वाल्याणी, शेखर यादव, जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष नरेश ठाकुर, प्रदेश कांग्रेस सचिव राजेश तिवारी ने भी सभा को संबोधित किया। मंच संचालन दयाराम जैन ने किया। सम्मेलन में विधायक गुरूमुख सिंह होरा, पूर्व विधायक मंतूराम पवार, पूर्व मंत्री गंगा पोटाई, शिव नेताम, छग कांग्रेस महिला अध्यक्ष अंबिका मरकाम, राजकुमारी दीवान, लोकसभा युवक कांग्रेस अध्यक्ष अमीन मेमन के अलावा नितिन पोटाई, पुरुषोत्तम पाटिल, मानक दरपट्टी, पवन कौशिक, आशीष दत्ता राय, बसंत यादव, चंद्रकांत ध्रुवा, स्वर्णलता सिंह, पुरषोतम गजेंद्र, आकाश राव, कांति नाग, परदेशी राम निषाद, मांडवी दीक्षित, मोतीराम साहू, धर्मेंद्र सेन, सुनील गोस्वामी, रामाधार कुलदीप, नंदकिशोर राठी, रामकरण कुंजाम, धर्मेंद्र मेहता, पंडित राम नरेटी, दुर्गाप्रसाद कोमरा, शिवलाल टांडिया, बाबा गढ़पाले, आरती श्रीवास्तव, विजय यादव, डा विजय तिवारी, चंद्रकुमार यादव, शंकर ध्रुवा, गणेश तिवारी, इशहाक अहमद, लक्ष्मणपुरी गोस्वामी, मुन्ना सिन्हा सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

शुक्रवार, 23 मार्च 2012

गढिय़ा पहाड़ स्थित कांकेश्वरी देवी के मंदिर मेंं जले मनोकामना के ज्योत

  कांकेर :- कांकेर जिले के ऐतिहासिक गढिय़ा पहाड़ स्थित श्रीश्री योगमाया कांकेश्वरी देवी के मंदिर में बासंती चैत्र नवरात्र पर्व के अवसर पर घी के 24, तेल के 104 एवं एक नगर कल्याण कुल 129 मनोकामना ज्योति कलश की स्थापना अभिजित मुहूर्त में विधि विधान से पूजा अर्चना कर की गई। इस अवसर पर काफी संख्या में श्रद्धालूजन उपस्थित थे।
आज नवरात्र के प्रथम दिन से ही गढिय़ा पहाड़ स्थित मंदिर में देवी के दर्शन करने सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। पहाड़ी में दर्शनार्थ जाने वाले लोगों की सुविधा के लिए नगर पालिका परिषद कांकेर के द्वारा पेयजल की व्यवस्था की गई हैं। श्रद्धालुओं को रात्रि में पहाड़ में दर्शन करने के लिए आने जाने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो इसलिए रास्ते में पालिका के द्वारा बिजली की भी समुचित व्यवस्था की गई हैं। पहाड़ के ऊपर विभिन्न प्रकार के दुकान भी सजने लग गये हैं। जहां हर प्रकार के पूजा एवं खान पान आदि की सामग्री रखी गई हैं।

शनिवार, 10 मार्च 2012

महिला दिवस पर लांयस क्लब ने महिलाओं का किया सम्मान


नारी अपनी शक्ति को पहचान ऊंचा मुकाम हासिल करे: श्रीमती शर्मा
कांकेर :- अन्र्तराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर लायंस क्लब कांकेर ग्रीन सिटी के द्वारा महिलाओं की विचार गोष्ठी का आयोजन कर कन्या भ्रूण हत्या, महिला सशक्तीकरण, महिला उत्थान एवं राजनैतिक रूप से शक्तिशाली बनने आदि विषयों पर चर्चा की गई तथा ज्योतिष के क्षेत्र में ऊंचा मुकाम हासिल करने वाली श्रीमती गीता शर्मा एवं शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धी के लिए डा. श्रीमती सरला आतराम का शाल श्रीफल भेंट कर सम्मान किया गया। इस अवसर पर आयोजित गोष्ठी को संबोधित करते हुए श्रीमती गीता शर्मा ने कहा कि नारी में देवी का नवरूप होता हैं, नारी अपनी शक्ति को पहचान कर काम करे तो समाज में ऊंचा स्थान हासिल कर सकती है। श्रीमती शर्मा ने वेद पुराणों के अनेक उदाहरणों के माध्यम से नारी शक्ति का उल्लेख किया तथा अपने शुरूवाती दिनों में ज्योतिष के कार्यों में आई बाधा के बारे में जानकारी देकर उपस्थित महिलाओं को प्रोत्साहित किया। डा. सरला आतराम ने कहा कि आज लैंगिग अनुपात में काफी असमानता आती जा रही हैं जोकि भविष्य के लिए घातक है। महिलाओं को कन्या भ्रूण हत्या का विरोध करना चाहिए तथा महिलाएं अपनी काबिलियत एवं आत्मबल से हर क्षेत्र में सशक्त हस्ताक्षर बने। लायंस क्लब के अध्यक्ष राजेश तिवारी ने कहा कि अगर महिलाएं संगठित होकर महिला आरक्षण के लिए अपने अपने घर में चूल्हा चक्की बंद कर आन्दोलन प्रारंभ कर दे तो प्रत्येक दल के नेताओं को मजबूर होकर महिला आरक्षण बिल पास करना पडेगा। गोष्ठी को श्रीमती उर्मिला शुक्ला, श्रीमती रानी शर्मा, श्रीमती सुनीता तिवारी, पद्मा चंद्राकर, आशा खटवानी, स्वर्णलता सिंह ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन लायन कल्पना जायसवाल ने व आभार प्रदर्शन लायन शशि चौहान ने किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से लायंस क्लब के अध्यक्ष राजेश तिवारी, लायन अशोक शुक्ला, उपाध्यक्ष लायन उर्मिला शुक्ला, कल्पना जायसवाल, सह सचिव डा. शशि चौहान, सह कोषाध्यक्ष स्वर्णलता सिंह, टेल ट्वीस्टर लायन आशा खटवानी, लायन सुनीता तिवारी, श्रीमती गायत्री शर्मा, श्रीमती सरोज राव, पद्मा चंद्राकर, सरोजनी पांडे आदि महिलाएं उपस्थित थीं।

रविवार, 8 जनवरी 2012

हे मां तुझे भुलाऊं कैसे?


हे मां तुझे भुलाऊं कैसे?
तेरे प्यार को बिसराऊं कैसे,
अपने बचपन को भूल जाऊं कैसे,
मां तुझसे दूर जाऊं कैसे, मां तुझे भुलाऊं कैसे .. ..
तेरी आंचल में मेरी नींद को,
मेरी बीमारी में उड़ी तेरी नींद को,
तुम्हारे हर उस लाड़ दुलार को,
खाने के लिए तेरे पुचकार को,
पढ़ाई के लिए तेरे डांट लताड़ को,
मेरे आंशू पोछे उस आंचल को, 
शैतानी पर तेरे हाथों की नरम पिटाई को,
फिर तेरे गर्म आंशू की उस रूलाई को,
मुझे मनाने खिलाई तेरी मिठाई को - कैसे भूल पाऊं मैं
मां तुझे भुलाऊं कैसे, तुझसे दूर जाऊं कैसे. .
नादान उम्र की उस भटकन को,
बचपन के उलझे प्रश्नो के उत्तर को,
जवानी की हर कटीले सांझ को,
जीने की दिखाई तेरी हर राह को,
समझदारी की तेरी हर बात को, कैसे भूल पाऊं मैं
मां तुझे भुलाऊं कैसे? तुझसे दूर जाऊं कैसे? तुम्हारी यादों से दूर हो जाऊं कैसे?
हमारे लिए उठाई तेरी हर कठिनाई को,
तेरे जीवन के हर पल संघर्ष को,
संघर्षो की तेरी हर लड़ाई को,
बिखरे परिवार की उस संवराई को, कैसे भूल पाऊं मैं. . .
मां तुझे भुलाऊं कैसे? तुझसे दूर जाऊं कैसे? तुम्हारी यादों से दूर हो जाऊं कैसे?
सबके दुखों से होना तेरे दुख को,
सबके खुशी में शामिल तेरी खुशी को,
सबके कष्ट निवारन करने की तेरी कला को,
इन सबको मैं पाऊं कैसे?
मां तुझे भुलाऊं कैसे? तुझसे दूर जाऊं कैसे? तेरी यादों से दूर हो जाऊं कैसे?
तेरे दिये इस अनमोल जीवन को,
तेरे संवारे मेरे उस यौवन को,
मुझे पहुंचाये हर उस मुकाम को 
मेरे रूठने पर तेरी मनुहार को, 
मुझसे नाराज होने की उस झूठे रूठन को,
अब मुझसे रूठी हो तो मनाऊं कैसे?
तेरे जाने से दुखी सबके मन में वो खुशी अब मैं लाऊं कैसे?
मां तुझे भुलाऊं कैसे? मां फिर से तुझे पाऊं कैसे,
तुम्हारे आंचल में अब मैं समाऊं  कैसे?
मां तुझे भुलाऊं कैसे? मां तुझे भुलाऊं कैसे?