सोमवार, 31 अक्तूबर 2011

इंदिरा गाँधी जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धा सुमन अर्पित है ..

देश की पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गाँधी जी की पुण्यतिथि के अवसर पर श्रद्धा सुमन अर्पित है.............


रविवार, 23 अक्तूबर 2011

मै ह्रदय से सभी मित्रों का आभारी हूँ

सभी मित्रों, शुभचिंतकों की दुवाओं से मै और मेरा परिवार एक बड़ी दुर्घटना से सकुशल बच गए. ये ईश्वर का चमत्कार ही है की हमें खरोच तक नहीं आई. मै ह्रदय से सभी मित्रों का आभारी हूँ, जिन्होंने मेरी इतनी चिंता कर मेरी मदद करने तुरंत मेरे पास पहुंच मेरा सम्बल बढाया. लगातार शुभचिंतकों ने फ़ोन कर चिंता जाहिर की.  मै उनका बहुत ज्यादा ही आभारी हूँ जो अनजान थे किन्तु दुर्घटना स्थल में हमारी मदद की. मै ईश्वर से सभी की खुशहाली की कामना करता हूँ.


बुधवार, 19 अक्तूबर 2011

रोजगार गारंटी के अंतर्गत फर्जी मजदूरी भुगतान


रोजगार गारंटी के अंतर्गत फर्जी मजदूरी भुगतान


भुगतान की मांग लेकर जिला पंचायत पहुंचे मजदूर 

कांकेर। रोजगार गारंटी के अंतर्गत फर्जी मजदूरी भुगतान करने का मामला प्रकाश में आया है। ग्राम गोटीटोला के ग्रामीणों ने मंगलवार को जिला पंचायत पहुंच कर सीईओ से इसकी शिकायत की। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष रोजगार गारंटी योजना के तहत क्षेत्र में मैदान समतलीकरण, स़ड़क निर्माण तथा खेत समतलीकरण जैसे काम कराए गए थे। 

जिसमें कई मजदूरों ने काम किया था लेकिन अब तक इन मजदूरों को मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया है। साथ ही शासकीय राशि का फर्जी तरीके से शासकीय कर्मचारी बंदरबाट करने के फिराक में लगे हैं। कर्मचारी मस्टर रोल में फर्जी तरीके से नाम को दर्शाकर शासकीय राशि को आहरण कर रहे हैं। शासकीय राशि का इस तरह के बंदरबाट करने के अनेक मामले हैं लेकिन प्रशासन के लापरवाही के कारण मामले रुकने के बजाए और तूल ले रहा है। प्रशासन की दोषियों के खिलाफ क़ड़ी कार्रवाई नहीं होने से भ्रष्टाचारियों के हौसले और भी बुलंद हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसी तरह ग्राम पंचायत गोटीटोला में भी रोजगार गारंटी के तहत राशि का फर्जी तरीके से आहरण किया गया है। 

जिला पंचायत सीईओ को ज्ञापन के द्वारा अवगत कराया कि ग्राम पंचायत गोटीटोला के आश्रित ग्राम चंदेली के द्वारा रोजगार गारंटी के अंतर्गत कार्य किया गया था, जिनका मजदूरी भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में पहले भी एसडीएम और कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि प्रशासन इसके बाद भी चुप रहा तो भ्रष्टाचारियों की मनमानी ब़ढ़ती ही जाएगी। 

भूमि समतलीकरण कार्य में फर्जी भुगतान किया गया है। उन्होंने बताया कि ग्राम के सरपंच सचिव के द्वारा फर्जी तरीके से बैंक से राशि का आहरण किया जा रहा है उन्होंने बताया कि जब बैंक इसकी जानकारी मांगी गई तो बहुत से ऐसे व्यक्तियों के नाम सामने आए जो या तो शासकीय कर्मचारी है या पेंशनधारी है। उन्होंने बैक से प्राप्त सूची के आधार पर बताया कि द्वारका प्रसाद, सानूराम, सज्जनसिंह, मैनाबाई, गैदीबाई, सराधुराम, रैनीबाई, अमरबती, देवंतीन, अमको, रतीराम, रमेश, अघोन, लबन्तीन, सुरजाबाई, राधेराम गंगाराम, मधु, रमुला, रतुला, बृजाबाई, कृष्णाबाई, अजीत, राजेश्वरी, रोहित, सदाराम, मनटोराबाई, रोहितदास, बसंता, छत्तर, अगनूराम, देवाथ, भद्रप्रताप, निर्मला, सोकसिर, उदली, श्यामा, सुखीराम, श्यामा, कुमारी, रामभरोष, नोहर, बसंत लता आदि ऐसे नाम है जिनके नाम से फर्जी तरीके से राशि का आहरण किया गया है। ज्ञापन सौंपने वालों में राजेश तिवारी, रतिराम सेठिया, रामसिंग पोटाई, रमेश दरपट्टी, विष्णुराम नाग, सावंतराम मंडावी, छतर नेताम, जेठुराम टेकाम, रघुनाथ शोरी, रामलाल साहू, कैलाश मंडावी आदि मौजूद थे।





मंगलवार, 11 अक्तूबर 2011

कव्वाली की प्रस्तुति ने मनमोहा

गढ़िया पहाड़ पर गीत गाएगी सीमा

कांकेर। गढ़िया महोत्सव के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंखला में सातवें दिन बनारस की कव्वाली गायिका तथा महाराष्ट्र के कव्वाल के बीच जंगी मुकाबला हुआ। कार्यक्रम देखने भारी भी़ड़ उम़ड़ी थी तथा अंत तक महोत्सव का पंडाल खचाखच भरा हुआ था। 

रात १० बजे दुर्गा अराधना के साथ शुरू हुआ कव्वाली का दौर सुबह ४ बजे तक चला। कव्वालन सीमा सबा ने देवी अराधना के बाद ऐसी प्रस्तुति दी कि श्रोता मंत्रमुग्ध बैठे रहे। भोजपुरी में प्रस्तुत कव्वाली में राधा कृष्ण के बीच नोक झोंक की प्रस्तुति को दर्शकों ने बेहद सराहा। इसके अलावा महाभारत के अभिमन्यु प्रसंग पर प्रस्तुत कव्वाली बेटा याद रखोगे की भूल जाओगे..को भी जमकर दाद मिली। कौमी एकता पर प्रस्तुत कव्वाली जो हिन्दू मुसलमान को आपस में ल़ड़ा दे यारों हमारे मुल्क का शैतान वहीं है..को भी दर्शकों ने बेहद पसंद किया। महाराष्ट्र के कव्वाल सलीम हाशमी ने भी देवी अराधना, कौमी एकता के साथ कव्वाली का दौर शुरू किया। जिसे दर्शकों ने सराहा। दोनों कव्वाली के बीच नोंक झोंक को भी श्रोताओं ने जमकर मजा लिया। कव्वाली का मुकाबला देखने शहर के अलावा दूरदराज गांवों से भी ब़ड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे तथा कार्यक्रम के अंत तक कव्वाली का आनंद लिया। कव्वाली के जंगी मुकाबले में बनारस की कव्वाल सीमा सबा महाराष्ट्र के कव्वाली सलीम हाशमी पर भारी प़ड़ी। 

गढ़िया पहाड़ पर गीत गाएगी सीमा 

गढ़िया महोत्सव आयोजन समिति ने बनारस की कव्वाली गायिका सीमा सबा को ग़िढ़या पहा़ड़, महोत्सव आदि के लिए अपनी आवाज में आडियो कैसेट बनाने प्रस्ताव दिया है। सीमा सबा ने इस प्रस्ताव को स्वीकार किया तथा कुछ औपचारिकताओं के बाद शीघ्र ही कैसेट कांकेर की श्रद्घालु जनता के हाथों तक पहुंचेगा। ग़िढ़या पहा़ड़ पर तैयार होने वाले गीत का मुख़ड़ा होगा चलो चलते है ग़िढ़या पहा़ड़ वहां है माता का दरबार..विदित हो की सीमा सबा पिछले १२ वर्षो से कव्वाली कर रही हैं तथा उनकी आवाज में टी सीरिज ने कव्वाली के २५ एलबम बनाए हैं जो देश में बेहद लोकप्रिय भी हुए हैं। सीमा सबा ने देश के सभी प्रांतों में कार्यक्रम दिए हैं तथा दक्षिण अफ्रीका में भी कार्यक्रम दे चुकी हैं।कांकेर। ग़िढ़या महोत्सव के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंखला में सातवें दिन बनारस की कव्वाली गायिका तथा महाराष्ट्र के कव्वाल के बीच जंगी मुकाबला हुआ। कार्यक्रम देखने भारी भी़ड़ उम़ड़ी थी तथा अंत तक महोत्सव का पंडाल खचाखच भरा हुआ था।